फरसाबहार के यह किसान ड्रीप खेती से कमा रहे हैं बेहतरीन मुनाफा

ड्रीप सिंचाई के साथ के साथ उद्यानिकी फसल की उन्नत खेती

विकासखण्ड फरसाबहार के ग्राम गंझियाडीह के कृषक श्री शिवकुमार उन्नत श्रेणी के कृषक हैं, जो पिछले कुछ वर्षों से ड्रीप सिंचाई की उन्नत तकनीक का उपयोग रहे हैं। 


मल्चिंग के साथ ड्रीप सिंचाई

मुख्यरुप से इनके द्वारा उद्यानिकी फसलों की खेती की जाती है। इनमें टमाटर, करेला, तरबूज, बरबटी, भिंडी और बैंगन जैसे फसलें शामिल हैं। गर्मी के मौसम में इनके द्वारा 1 एकड़ में तरबूज की फसल ली गई थी, इसमें 20000 रु. का निवेश किया गया। 


किसान के अनुसार-

"मेरे द्वारा ड्रीप विधि के साथ 1 एकड़ में तरबूज की खेती की गई। कुल निवेश 20000 रु. के आसपास रही। उपज की बिक्री थोक में हुई, जो 75000 रु. थी।"


हालाँकि उन्होंने यह भी कहा-

"खेती की देखभाल एक बच्चे की तरह करनी पड़ती है, थोड़ी लापरवाही हुई और पूरी मेहनत बेकार।"


क्या होती है ड्रीप सिंचाई?

ड्रीप सिंचाई, सिंचाई की आधुनिक और उन्नत तकनीक है। इसका उदभव मिस्र देश से हुआ माना जाता है। सिंचाई की इस विधि से पानी की बहुत ही कम मात्रा से एक बड़े फसल क्षेत्र की जल आवश्यकता को दक्षता के साथ पूरी की जा सकती है। ड्रीप सिंचाई एक पूरी सिस्टम होती है जिसमें निम्न आवश्यक और महत्वपूर्ण भाग शामिल होते हैं-

1. बोरवेल।

2. मुख्य पाइप।

3. सहायक पाइप


मुख्य पाइप बोरवेल से जुड़ा होता है जिससे सहायक पाइप निकलकर पूरे खेत में फैले होते हैं। सहायक पाइप में निश्चित दूरी पर छोटे-छोटे छिद्र होते हैं जिनसे टपक-टपक की क्रिया से पौधों को सीधे तनों के नीचे, जड़ के पास पानी मिलती रहती हैं।


सरकारी योजना


सम्बंधित विभाग

यह योजना उद्यान विभाग के अंतर्गत आती है। 


कैसे लें इसका लाभ?

इस योजना का लाभ लेने के लिए कृषक को उद्यानिकी विभाग के अधिकारी/कर्मचारियों से सम्पर्क करने की जरूत होती है। 


क्या हैं अनुदान की पात्रता और अनुदान?

यह योजना सभी वर्गों के कृषकों को प्रदाय की जाती है। अनुदान इस तरह से हैं-

(अ). कृषक वर्ग 01: जिनके पास 5 एकड़ से कम जमीन है वे 70% अनुदान के पात्र होते हैं।

(ब). कृषक वर्ग 02: जिनके पास 5 एकड़ से ज्यादा जमीन है वे 50% अनुदान के पात्र होते हैं।


आवश्यक दस्तावेज

निम्न. दस्तावेजों की आवश्यकता होती है-

1. कृषक का आधार कार्ड।

2. बैंक पासबुक।

3. B-1 और पर्चा।

4. नक्शा खसरा।

5. कृषक व बोरवेल के फोटोग्राफ्स।


Call at 6267219350

-By Harish Manik (Horticulture Officer, Farsabahar)





Post a comment

1 Comments