मिडिल क्लास की बातें

चलिये आज बात करते हैं मिडिल क्लास बातों की

पहली बात: नौकरी ही करनी है

यह सत्य बात है कि मिडिल क्लास जिंदगी को नौकरी स्थिरता देती है। नौकरी है तो सब संभव है। इसके दो फायदे हैं- पहली यह कि जिंदगी सेटल हो जाती है, और दूसरी यह समाज में इज्ज़त मिलती है जो शायद बिना नौकरी पेशे को न मिले। इसलिये समाज में लगभग सभी परिवार की यही सोंच है कि नौकरी मिल जाये।

दूसरी बात: कुछ नया करने की कोशिश क्यों करें?

"करना वही है जो सब करते आ रहे हैं, नया करने की जरूरत ही क्या है? पैसा फँसाने के बाद इसका डूबना तय है।" और यह सत्य भी है, क्योंकि 99.99% मौकों पर जब एक मिडिल क्लास वर्ग के युवा परंपरागत कार्य को छोड़कर कोई नये काम पर पैसा इन्वेस्ट करते हैं तो इसके डूबने की संभावना बहुत अधिक होती है। यह स्थिति डराने के लिए काफी है।

तीसरी बात: खेलने में समय बर्बाद क्यों करें?

खेल एक ऐसी चीज है जो हमें अपने लक्ष्यों से भटकाती है। खेलने से समय की बर्बादी के सिवा कुछ मिलने वाला नहीं है। इससे दो ही बातें होंगीं- पहला- समय की बर्बादी और दूसरा- लक्ष्य से दूरी।

चौथी बात: बड़ा बनना है तो सिर्फ पढ़ो

यह वाक्य मिडिल क्लास की मूलमंत्र है। आप पढेंगे तो नौकरी मिलेगी नौकरी मिलेगी तो पैसा आएगा। पैसा आयेगा तो शादी होगी। पैसा रहेगा तो बच्चों का भविष्य बनेगा। और यह क्रम जारी रहता है।

पाँचवी बात: बड़े सपने मत देखो

यह बात तो उनके हिसाब से सत्य है पर हमारे हिसाब से बिल्कुल गलत।

-BY HARISH MANIK

Post a comment

0 Comments