12 वीं बोर्ड परीक्षा में ज्यादा नंबर (अंक) कैसे लायें?

12 वीं बोर्ड परीक्षा में ज्यादा नंम्बर अथवा अंक कैसे लायें, यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण सवाल है। 12 वीं में अध्ययनरत प्रत्येक विद्यार्थी अधिक से अधिक अंक प्राप्त करना चाहते हैं, ताकि अच्छे अंक के साथ भविष्य में कहीं न कहीं कोई नौकरी लगनेे की संभावना बनी रहे। इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिये बच्चों के माता-पीता भी बच्चों के साथ तैयारी में लग जाते हैं। परन्तुु 90% से ज्यादा नंबर लाना प्रत्येक विद्यार्थी के लिए संभव नहीं हो पाता।



यहाँ 10 ऐसे टिप्स दिये जा रहें हैं जिनका अनुसरण कर विद्यार्थी 12 वीं बोर्ड की परीक्षा में अधिक से अधिक अंक प्राप्त कर सकेंगे।

ये 10 टिप्स इस प्रकार हैं:

1. सिलेबस (पाठ्यक्रम) से सम्बंधित टिप्स।
2. नोट्स से सम्बंधित टिप्स।
3. स्वयं की तैयारी से सम्बंधित टिप्स।
4. ट्यूशन से सम्बंधित टिप्स।
5. ऑनलाइन तैयारी से सम्बंधित टिप्स।
6. क्लास लेक्चर से सम्बंधित टिप्स।
7. विषयों से सम्बंधित टिप्स।

1. सिलेबस (पाठ्यक्रम) से सम्बंधित टिप्स


12 वीं क्लास में पाठ्यक्रम 2 तरह के होते हैं:
1.1 पहला- सैद्धान्तिक विषय से सम्बंधित पाठ्यक्रम।
1.2 दूसरा- प्रायोगिक विषय से सम्बंधित पाठ्यक्रम।

चूँकि सैद्धान्तिक विषय से सम्बंधित पाठ्यक्रम 100 अंकों के होते हैं अतः इनकी उचित ढंग से तैयारी करना बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस पाठ्यक्रम में अंकों को टॉपिक के अनुसार विभाजित किया जाता है। अधिक महत्व वाले टॉपिक्स में अधिक अंक आबंटित होते हैं। अतः पाठ्यक्रम की तैयारी करते समय इन टॉपिक्स पर अधिक फोकस करना चाहिए।

परीक्षा हेतु सिलेबस की तैयारी में आधारभूत चीजों का ध्यान हमेशा ही रखनी चाहिए। पिछले कुछ वर्षों में पूछे गए प्रश्नों तथा उनसे सम्बंधित विषयों की गहराई से अध्ययन करनी चाहिए।

2. नोट्स से सम्बंधित टिप्स

अधिक अंक प्राप्त करने की दिशा में नोट्स बहुत ही अधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। नोट्स या तो स्वयं से बनाये जा सकते हैं, अथवा संग्रह किये जा सकते हैं, अथवा खरीदे भी जा सकते हैं। परन्तु हमेशा यह कोशिश करनी चाहिए कि नोट्स स्वयं से ही बनाई जाए। इससे चीजें ठीक से समझ में आती हैं तथा अच्छी तरह से याद भी रह जाती हैं।

2.1 नोट्स बनाना- नोट्स तैयार करना एक बहुत ही अच्छी आदत है। यह किसी भी विद्यार्थी की सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। परन्तु नोट्स बनाने का यह तात्पर्य नहीं है कि विद्यार्थी सभी टॉपिक्स के नोट्स बनाते जायें, इससे सिर्फ समय की ही हानि होती है।

यहाँ कहने का तात्पर्य यह है कि सिर्फ उन्हीं बिंदुओं पर नोट्स बनाने चाहिए जो महत्वपूर्ण हैं, और जिनके जवाब विद्यार्थियों को या तो पता नहीं होते अथवा कठिन होते हैं।

जिनके जवाब पहले से मालूम हों और जो अपेक्षाकृत अन्य टॉपिक्स से सरल हों उनके नोट्स न बनाकर टाइम की बचत की जानी चाहिए।

नोट्स बनाते समय इस बात की ध्यान रखी जानी चाहिए कि एक बनाई जा रही नोट्स में टॉपिक्स से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण बिंदु शामिल हों। साथ ही नोट्स को हेडिंग तथा सबहेडिंग देकर बिंदुवार बनानी चाहिए।

2.2 नोट्स संग्रह करना- नोट्स का दो तरह से किया जा सकता है-

  • अपने सीनियर छात्रों से। तथा,
  • नोट्स खरीद कर।

सीनियर छात्रों से नोट्स संग्रह करते समय ध्यान रखें कि उस छात्र ने गत परीक्षा में कितने अंक अर्जित किये तथा वह कितना मेहनती है।

नोट्स खरीदने के लिए किसी भी पुस्तक की दुकान का सहारा लिया जा सकता है। केवल उन्हीं प्रकाशन की पुस्तकें खरीदें जो प्रमाणित हों तथा जिसे खरीदने का सुझाव शिक्षक भी देते हैं।

3. स्वयं की तैयारी से सम्बंधित टिप्स

स्वयं से तैयारी करने की दशा में आत्मविश्वास का होना अति आवश्यक है। स्वयं से तैयारी करते समय निम्न चीजों का अनुसरण करें-

  • सुबह 4 बजे तके जल्दी उठ जायें।
  • रोज स्कूल जायें।
  • मोबाइल की लत छोड़ें।
  • स्कूल में लगातार नोट्स तैयार करें।
  • छुट्टी के दिनों में लगातार पढें।
  • ज्यादा छुट्टी न लें।
  • शाम को एक घण्टे किसी न किसी खेल में भाग लें।
  • घूमने फिरने की आदत छोड़ दें।
  • पढ़ाई में अपने माता-पिता एवं बड़े भाई-बहन से सहायता लें।
  • सुबह के समय योग जरूर करें।
  • रिवीजन को प्राथमिकता दें।

4. ट्यूशन से सम्बंधित टिप्स

वर्तमान समय में लगभग सभी विद्यार्थी अधिक अंक पाने के लिए ट्यूशन की मदद लेते हैं। ट्यूशन से सम्बंधित टिप्स इस प्रकार हैं-

  • अच्छे ट्यूटर से ही ट्यूशन लें।
  • रोज ट्यूशन जायें।
  • गर्मियों की छुट्टियों में ट्यूशन जाना न छोड़ें।
  • ट्यूशन संस्था द्वारा आयोजित परीक्षा में भाग लें।
  • पूरी तरह से ट्यूशन पर आत्मनिर्भर न बनें।

5. ऑनलाइन तैयारी से सम्बंधित टिप्स

पूर्व में कहा गया है कि मोबाइल की लत छोड़ दें; इससे यह तात्पर्य था कि मोबाइल का उपयोग सिर्फ अध्ययन के कार्य तथा किन्ही आवश्यक दशाओं में किसी से बात करने के लिए ही करें। पढ़ाई के लिए मोबाइल का उपयोग करना बहुत अच्छी आदत है।

पढ़ाई में मोबाइल का उपयोग करने के लिए मोबाइल में डेटा पैक का होना अति आवश्यक है। ऑनलाइन तैयारी करने के लिए किसी भी वेबसाइट का सहारा लिया जा सकता है। इनमें से कुछ वेबसाइट इस प्रकार से हैं-

5.1 You Tube (यू ट्यूब): यह वीडियो से सम्बंधित वेबसाइट है। यहाँ शिक्षा से सम्बंधित सभी प्रकार की जानकारी मिल जाती है।

5.2 अन्य वेबसाइट: अन्य वेबसाइट से जानकारी लेने के लिए Google (गूगल) का प्रयोग करें। इसके लिए खोजे जाने वाले शब्दों को हुबहू google में लिख देना चाहिए और सर्च करना चाहिए।

6. क्लास लेक्चर से सम्बंधित टिप्स

क्लास में दी जानी वाली लेक्चर अपने आप में ट्यूशन के बराबर ही होती है। अतः क्लास में एकाग्रता के साथ अध्ययन करनी चाहिए। क्लास में निम्न बातों का ध्यान रखें-

  • निरन्तर क्लास में शामिल हों।
  • लेक्चर को नोट करते जायें।
  • क्लास में मोबाइल लेकर न जायें।
  • क्लास अच्छी तरह से ध्यान लगायें।

7. विषयों से सम्बंधित टिप्स

12 वीं कक्षा में अलग-अलग समूह के विद्यार्थी होते हैं। इनमें जीव विज्ञान, गणित, कला, वाणिज्य और कृषि समूह के विद्यार्थी होते हैं। अलग-अलग विषय समूह होने के बाद भी इन विषयों के तैयारी का सिद्धांत एक ही होता है।

  • सभी विषयों को एक समान महत्व दें।
  • सभी विषयों का टाइम टेबल तैयार करें।
  • विषय को समझने की कोशिश करें।
  • रटने में समय बर्बाद न करें।
  • पूर्व में कहे अनुसार सभी महत्वपूर्ण बिंदुओं पर नोट्स तैयार करें।


अंत में सबसे महत्वपूर्ण और जरूरी बात यह है कि 12 वीं बोर्ड की तैयारी के दौरान नियमितता को सर्वोच्च प्राथमिकता दें।

सुभकामनाओं के साथ धन्यवाद!


Post a comment

0 Comments